रायपुर,20 मार्च 2020

भारत में कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। अब तक 195 भारतीय इसकी चपेट में हैं. वहीं इस वायरस की वजह से भारत में अब तक चार लोगों की जान चली गई है। भारत सरकार की कोशिश के बीच भी कोरोना वायरस का दायरा फैलता जा रहा है. इसकी रोकथाम को लेकर देश में हर तरह से एहतियात बरता जा रहा है, कुल 195 मामलों में 163 भारतीय हैं, जबकि 32 विदेशी नागरिक हैं।

वायरस के खतरे को बढ़ने से रोकने के लिए गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया और इस संक्रमित बीमारी की रोकथाम में सहयोग करने की जनता से अपील की।

इधर छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज के मिलने के बाद प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने एडवायजरी जारी कर प्रदेश में धारा 144 लागू कर दी है और एहतियात बरतने के सख्त निर्देश दिये हैं।

प्रदेश के नगर निगम क्षेत्रों में स्कूल, कॉलेज, मॉल, शॉपिंग कॉम्पलेक्स, मल्टीप्लेक्स आदि भीड़-भाड़ वाले स्थानों, प्रतिष्ठानों को बंद कर दिया गया है। अंतरराज्यीय बस सेवा को रोक दिया गया है। लेकिन इस बंदी के साथ ही शहर-शहर लोगों की भीड़ किराना दुकानों पर जुट रही है, लोग ज्यादा से ज्यादा राशन और खाने-पीने की जरूरी वस्तुएं अपने घर में जमा कर लेना चाह रहे हैं।गुरुवार शाम से लेकर खबर लिखे जाने तक यही स्थिति बनी हुई है। हालांकि सरकार की ओर से कहा जा रहा है कि सामान जमा करके रखने की कोई आवश्यकता नहीं है।

देश के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी भी जनता से अपील कर चुके हैं कि जरूरी वस्तुओं के भंडारण करने की जरूरत नहीं है, ऐसा करके आप जरुरतमंदों की आवश्यकताओं को अनदेखा न करें। रायपुर के तमाम पेट्रोल पंपों पर भी पेट्रोल-डीजल भरवाने के लिए वाहन चालकों की लंबी कतारें देखने को मिली हैं। कई जगह पेट्रोल-डीजल आउट ऑफ स्टॉक भी हो चुका है।

रायपुर शहर में सप्लाई होने वाला बोतलबंद दूध आज कई इलाकों में सप्लाई नहीं हुआ। बोतलबंद दूध के ग्राहक ज्यादातर शहर के धनाढ़्य परिवार हैं, लेकिन शहर की चौबे कॉलोनी, समता कॉलोनी, गीता नगर, गुढ़ियारी में लॉक डाउन जैसी स्थिति बनी हुई है, पुलिस ने बेरीकेडिंग लगाकर कई रास्तों को ब्लॉक किया हुआ है, तमाम दुकान, प्रतिष्ठान बंद हैं। सड़कों पर  लोगों की आवाजाही भी बेहद कम दिखाई दे रही है।

देश में इससे बचने के लिए लगातार लोगों को जागरुक किया जा रहा है. साथ ही देश के सभी एयरपोर्ट पर पैसेंजर्स की स्क्रिनिंग की जा रही है. अब तक अलग-अलग एयरपोर्ट पर  14,31,734 पैसेंजर्स की स्क्रिनिंग की जा चुकी है. वहीं अस्पतालों में इलाज कर रहे लोगों में 20 लोगों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है.

 

0Shares
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed