Category: संपादकीय

Web Media Summit 2023 : वेब मीडिया से संभव हुई जनसंचार क्रांति : प्रो. संजय द्विवेदी

पटना, 28 अक्टूबर 2023 भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) के पूर्व महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी का कहना है वेब और सोशल मीडिया ने दुनिया में जनसंचार क्रांति को जन्म दिया…

क्या छत्तीसगढ़ में भाजपा नेताओं के पास नहीं है कोई विज़न? घोषणा पत्र में मोदी का चेहरा किया सामने!

संपादकीय, 3 नवंबर 2023 भारतीय जनता पार्टी ने छत्तीसगढ़ में होने जा रहे विधानसभा चुनाव 2023 के लिए आज अपना बहुप्रतीक्षित घोषणा पत्र जारी कर दिया। लेकिन भाजपा ने अपने…

विशेष आलेख : छत्तीसगढ़ में बढ़ता सबका मान, न्याय योजना बनी गरीब, वंचितों के लिए वरदान।

रायपुर, 02 मई 2023 छत्तीसगढ़ सरकार की न्याय योजनाओं से समाज के शोषित वंचित और गरीब तबकों का न केवल मान बढ़ा है बल्कि इन योजनाओं की बयार से बड़ी…

15 साल में महिलाओं का मन नहीं पढ़ पाए रमन! 3 साल के कार्यकाल में छत्तीसगढ़ की हर महिला के दुलारे बने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल।

संपादकीय, 07 मार्च 2022 8 मार्च 2022 को दुनिया भर में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाएगा। इसे लेकर तैयारियां भी चल रही हैँ। महिला दिवस को लेकर भारत में उत्सुकता…

रेडियो के लिये ज्योति बसु स्वतंत्रता सेनानी हैं !

संपादकीय, 17 जनवरी 2022 के. विक्रम राव, वरिष्ठ पत्रकार आज आकाशवाणी ने अपने समाचार बुलेटिन में ”आजादी के अमृत महोत्सव” श्रृंखला में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट ज्योति बसु को भी स्वधीनता सेनानी…

किसान आंदोलन के 9 महीने : भारत के जनांदोलनों के इतिहास में असाधारण संग्राम की विशेषता।

संपादकीय, 24 अगस्त 2021 आलेख : बादल सरोज 26 अगस्त को नौ महीने पूरे कर रहे किसान आंदोलन को किसी परिचय या भूमिका की आवश्यकता नहीं है। यहां सीधे इसकी…

हाल के दौर में जमकर लड़ी है देश की जनता, इन संघर्षों को आगे बढ़ाना ही होगा : डॉ. ढवले

विशेष आलेख : “आदरांजलि देने का काम सिर्फ शब्दों से नहीं किया जाता। सच्ची आदरांजलि उस रास्ते पर चलकर दी जाती है, जिसे दिखाकर शैली हमारे बीच से गए हैं।…

लुप्त होती पत्रकारिता और छीजता मीडिया : भारतीय मीडिया मुनाफे की तिजोरी का बंदी!

विशेष आलेख : शैलेन्द्र शैली स्मृति व्याख्यान-2021 में देश के सिद्ध और दुनिया के प्रसिद्ध पत्रकार पी साईनाथ ने “लुप्त होती पत्रकारिता और छीजता मीडिया” विषय पर दर्शकों-श्रोताओं को अपनी…

चांद सा हो मुख पृष्ठ भी !

संपादकीय, 20 जुलाई 2021 के. विक्रम राव, वरिष्ठ पत्रकार, लखनऊ, @Kvikramrao मानव के मुखड़े की भांति अखबार का प्रथम पृष्ठ उसका परिचायक होता है। अत: हम श्रमजीवी पत्रकारों की अनवरत कशमकश…

दलाई लामा पूज्य हैं, माना मोदी ने !

संपादकीय, 7 जुलाई 2021  के. विक्रम राव, वरिष्ठ पत्रकार, लखनऊ मोदी सरकार अब कुछ बदली है। बल्कि तीन वर्षों बाद सुधरी है। हालांकि हर परिवर्तन को प्रगति नहीं कहते। भले…

You missed